कोयला – खान
आधुनिक सभ्यता की प्रेरक शक्ति ‘कोयला’ आपको कोयला-खान की कार्य पद्धति की जानकारी देकर आपको शिक्षित करती है ।

आंचलिक विज्ञान केन्द्र, गुवाहाटी की कोयला-खान दीर्घा देखें और वास्तविक कोयला-खान के अन्दर होने का अनुभव प्राप्त करें । किसी के पास कोयला काटने की पद्धति - हस्तचालित और यांत्रिक हो सकती है । कोयला किस प्रकार खान से निकाला जाता है, कोयले की खुदाई के बाद सुरंग क्यों नहीं घसती है, किस प्रकार के सुरक्षा उपाय अपनाये जाते हैं आदि ।

केन्द्र में बनावटी खान बोर्ड और पिलर तथा लांगवाल प्रणाली दोनों को दर्शाती है । दोनों प्रणालियों में व्यवहृत मशीनी यंत्रों को पूर्ण मात्रा में बनावटी खान में दिखाया गया है । कोयला खान से गुजरते हुए दर्शक भूगर्भ स्थित खनन परिस्थिति का एक संपूर्ण ज्ञान प्राप्त कर सकता है।

         
कॉपीराइट 2015, @ आंचलिक विज्ञान केन्द्र,  
web.com (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड द्वारा संचालित है